आप जिस पर

आप जिस पर आँख बंद करके भरोसा करते हैं,

अक्सर वही आप की आँखें खोल जाता है.