देश आज़ाद कराना है तो

देश आज़ाद कराना है तो
गांधी हूँ मैं,
देश को उद्योग दिलाना है तो
नेहरु हूँ मैं
देश को एक सूत्र देना है तो
सरदार हूँ मैं
देश की आन बढ़ाना हो तो
शाष्त्री हूँ मैं
दुश्मन को औकात में लाना हो तो
इंदिरा हूँ मैं
देश में तकनीकी बढ़ाना है तो
राजीव हूँ मैं
देश में उदारवाद लाना हो तो
नरसिम्हा हूँ मैं
मंदी में सीना तान खड़ा हो देश तो
मनमोहन हूँ मैं
युवाओं को हक दिलाना हो तो
राहुल हूँ मैं
देश हित उज्ज्वल बनाना हो तो
प्रियंका हूँ मैं
जब जब देश को ज़रूरत पड़ी बलिदान की तो
सबसे आगे हूँ मैं….हाँ…कांग्रेस हूँ मैं…
तिरंगे की शान को आसमान में फहराना हो तो
हर दुश्मन का काल हूँ मैं..
हाँ कांग्रेस हूँ मैं…
जय हिन्द
जय कांग्रेस
जय हो