ख़ामोशी से बहते इन अश्कों के मानिंद

ख़ामोशी से बहते इन अश्कों के मानिंद
मैंने इक वादा किया टूटे हुए दिल के फसाने से
यूँ न अपने ख्यालों से करूंगी दूर तुझको
तुझे भी जलना होगा मेरी तरह इस वीराने में